'अलख जगाओत मिथिला परिक्रमा'

>  १३  नवम्बर  सं ७ दिसंबर धरि मिथिला परिक्रमा
कलकत्ता/दड़िभंगा. मिथिला राज्य आन्दोलन जोड़ पकडलक अछि से जगजियार अछि. एहि  वर्ष श्रृंखला सन बनल जा रहल अछि विभिन्न आयोजनक जे मिथिला राज्यक मांग  सं जुडल अछि. धरना-अनशन, यात्रा केर बाद आब परिक्रमा केर घोषणा सं मिथिला राज्यक स्वर बुलंद करबाक नियार भेल अछि. 'मिथिला परिक्रमा' केर घोषणा अखिल भारतीय मिथिला पार्टी  दिस सं कयल गेल अछि. पार्टीक रत्नेश्वर झा केर अनुसार एहि तरहक आयोजन सभ आन्दोलन कें अनुप्राणित करैत अछि.
हुनका अनुसार मिथिला परिक्रमा दोवोत्थान एकादशी सं विवाह पंचमी धरि चलत. अर्थात १३  नवम्बर  सं ७ दिसंबर धरि मिथिला परिक्रमा सिमरिया सं चलत  आ मिथिलाक २० लोकसभा क्षेत्र सं होइत निकलत जाहि मे १९ गोट जिला अबैत अछि. 'मिथिला परिक्रमा' केर घोषणा सं ई बुझब स्वाभाविक अछि जे अखिल भारतीय मिथिला पार्टी परिक्रमा बहन्ने आगामी लोकसभा चुनाव  लेल डाँर कसि रहल अछि. खैर जे हो मिथिला राज्यक मांग आ संवैधानिक अधिकार केर रक्षब आ एहि लेल जागरण करब कोटि-कोटि मैथिलजन लेल नीक डेग कहल जायत. (Report:  मिथिमीडिया ब्यूरो)

Advertisement

Advertisement