साहित्य अकादेमी द्वारा आयोजित भेल ‘युवा साहिती’ कार्यक्रम


साहित्य अकादेमी (Sahitya Akademi) नव दिल्ली दिस सं वेबलाइन साहित्य शृंखला केर अंतर्गत ‘युवा साहिती’ कार्यक्रम केर आयोजन शुक्रदिन 9 जुलाइ 2021 कें कएल गेल. अकादेमी केर उपसचिव डॉ. एन सुरेश बाबू एहि ऑनलाइन कार्यक्रम केर संचालन केलनि. साहिती मे मैथिली भाषाक छओ गोट युवा रचनाकार लोकनि भाग लेलनि. आयोजनक शुरुआत साहित्य अकादेमी मे मैथिलीक संयोजक डॉ. अशोक अविचल केर परिचयात्मक वक्तव्य सं भेल.
 
डॉ. अविचल मैथिली साहित्य (Maithili Literature) लेखन मे युवा हस्तक्षेप आ बदलैत परिदृश्य पर अपन बात रखलनि. साहित्य लेखन करैत जिम्मेदारी आ चुनौती प्रति साकांक्ष रहैत स्वयं कें बदलैत परिस्थिति मे अनुकूलित करबाक बिंदु पर अपन मंतव्य देलनि. ओ ‘युवा साहिती’ कार्यक्रम केर योजना आ अपेक्षाक विषय मे सेहो अपन विचार सबहक सोझां रखलनि.

युवा साहिती (Yuva Sahiti) कार्यक्रम मे युवा साहित्यकार सोनू कुमार झा कथा पढ़लनि ओतहि पंकज कुमार, अमित मिश्र, प्रिय रंजन झा, राजीव रंजन झा आ रूपेश त्योंथ कविता पाठ प्रस्तुत केलनि. युवा रचनाकार लोकनि अपन प्रस्तुति सं सुधी श्रोता-दर्शक कें प्रभावित केलनि. ओ लोकनि सामाजिक विसंगति, देशकाल केर सूक्ष्म अवलोकन सहित अनेक भावनात्मक विषय कें केन्द्र क' अपन रचना प्रस्तुत किया. रचना सब मे समस्याक संगहि समाधान आ मंतव्य सेहो शामिल देखल गेल. साहित्य केर अपेक्षा पर युवा रचनाकार लोकनिक लेखनी भविष्य केर आश्वस्ति अछि, एहन टिप्पणी संयोजक डॉ. अशोक अविचल केलनि.

डॉ. अविचल युवा रचनाकार लोकनि कें सुनलाक बाद अपन उद्गार मे संतोष व्यक्त करैत कहलनि जे हमरा युवा रचनाकार लोकनिक प्रस्तुति सं भाषाक स्वर्णिम भविष्यक आशा अछि. विषय चयन सं ल' गंभीर साहित्य लेखन कें देखि ओ खुशी प्रकट केलनि. ओ कहलनि जे साहित्यिक आयोजन केर निरंतरताक लेल जाहि तरहें साहित्य अकादेमी तत्पर अछि तहिना ओ स्वयं विविध विषय पर परिसंवाद आ अन्य कार्यक्रम आनि एक समावेशी आ रचनात्मक परिवेश सृजित करबाक दिशा मे कार्यरत छथि. कार्यक्रमक समापन अकादेमी केर उपसचिव डॉ. एन सुरेश बाबू द्वारा धन्यवाद ज्ञापन सं भेल.



(मैथिली भाषा मे उपयोगी वीडियो देखबाक लेल मिथिमीडिया केर यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करू. अहां फेसबुकट्विटर आ इन्स्टाग्राम पर सेहो फॉलो क' सकै छी.)