रंग भरल मौसिममे नेह मिला देब (गजल) - मिथिमीडिया
रंग भरल मौसिममे नेह मिला देब (गजल)

रंग भरल मौसिममे नेह मिला देब (गजल)

Share This
रंग भरल मौसिममे नेह मिला देब हम अहाँ दुनियाँकेँ चान चढा देब गाबि देबै नेहक गीत अहाँ आबि शेर हम होरीकेँ गाबि सुना देब नेह पर जगतीके भार टीकल छैक खाम्ह मिलि नेहक दू-चारि गड़ा देब मोनकेँ ने तोङब आइ अहाँ मीत घोरि अहलादक टा भांग पिया देब फागकेँ ई महिना मातल राजीव ताहि पर लागैए मारि अहाँ देब — राजीव रंजन मिश्र

Post Bottom Ad