फेर नव अवतार मे संटुआ

कलकत्ता/दड़िभंगा. मैथिलीक चर्चित फ़िल्म 'सस्ता जिनगी महग सेनूर'क संटुआ कें केs बिसरत? अपन सहज आ स्वाभाविक अभिनय कला आ संवाद बजबाक अदभुत शैली केर कारण समस्त मैथिल दर्शकक हृदय मे नीक स्थान बनबय बला आ सभक पसिनगर कलाकार छथि रोमी (प्रदीप) 'संटुआ' ठाकुर. मूलत: दरभंगा जिलाक नेहरा कें रहनिहार रोमी ठाकुर प्रारंभिक शिक्षा केर उपरांत मुम्बइ चलि अयला आ अभिनय केर क्षेत्र मे अपन भाग़्य अजमयबाक लेल संघर्ष करय लगलथि. आशा चन्द्रा फ़िल्म इंस्टिच्यूट, मुम्बइ सं एक्टिंगक कोर्स कयने छथि. मुदा किछु व्यक्तिगत कारणवश रोमी जी मुम्बइ छोड़ि देलनि. रोमी जी इंडियन मोशन पिक्चर्स प्रोड्यूसर एशोसियेशन (IMPPA) केर पूर्व सदस्य रहि चुकल छथि.
अभिनय केर क्षेत्र में कैरियरक प्रारंभ केना भेल पूछला पर रोमी जी बतौलनि जे मुरलीधरक निर्देशन में बनय जा रहल फ़िल्म 'सस्ता जिनगी महग सेनूर'क शूटिंग नेहरा गाम मे निर्धारित छल. किछु कलाकारक कमी कें देखैत स्थानीय कलाकार केर जरूरति छलैक. रोमीजीक व्यक्तित्व, भाषा-शैली आदि निर्देशक मुरलीधरजी कें बड्ड पसिंन पड़लनि आ रोमी जी कें दोसर मुख्य अभिनेता संटुआक भूमिका द' देलनि. परिणाम ई भेल जे फ़िल्म केर उपकथानक में चारि चान लाग़ि गेल. फ़िल्म मे  अपन नीक अभिनय सं सभ कें प्रभावित केलनि अछि. रोमीजीक दोसर फ़िल्म 'पिया संग प्रीत कोना हम करबै' आयल छल. अहू फ़िल्म मे रोमीजीक भूमिका मोटा-मोटी काबिले तारीफ़ अछि. कराटे में प्रशिक्षित रोमी जी एकटा अप्पन प्रोडक्शन हाउस खोलबाक इच्छुक छथि आ कहलनि जे ओ जल्दिये मां भगवती केर चमत्कार संबंधित एकटा सत्य घटना पर आधारित मैथिली फ़िल्म बनओता. आशा करैत छी जे हम सभ संटुआ कें एकटा आओरो नीक अवतार मे देखब. (Report : भास्कर झा)

Advertisement