'जाहि लागी ताहि होअय'


प्रदेश सरकार केर उदासीनता आ प्रशासनक अकर्मण्यता सं अकच्छ भ' ग्रामीण युवक लोकनि अपनहि हाथ मे कोदारि-छिट्टा ल' सड़क पर माटि फ़ेकब शुरू क' देलनि. मामिला मधुबनी जिला बेनीपट्टी प्रखंड केर त्योंथागढ़ गाम अछि. लगभग दशक भरि पहिने बाढ़ि मे ध्वस्त भेल कठपुलाक स्थान पर 2009 मे सीएम सेतु योजनाक तहति पुलक निर्माण त' भेल मुदा पुल कें सड़क सं बिनु कनेक्ट कएने ठीकेदार निपत्ता भ' गेल. स्थानीय प्रतिनिधि लोकनि सं गोहारि क' गामक लोक जखन थाकि गेल त' स्वयं तैयार भेल अछि. 


एहि पुल पर गोबरक ढेरी राखल रहैत छल. लगक बस्तीक महिला लोकनि एहि पर बेस कलाकारी सं गोरहा पथैत छलीह. गोरहा पाथय मे व्यस्त एक महिला सं जखन बात केलहुं त' जवाब भेटल 'उंचका स्थान हइ, सड़क बन्न हइ त' किछुओ काज त' होइ हइ. उंच रहने गोरहा नोकसानी नइ होइ हइ. सड़क चालू होतै त' फेर देखबै कोन ज' गोरहा पाथल होतै.'


ई सड़क बेस महत्वक अछि. एक दिस ई बासोपट्टी कें जोड़ैत अछि त' दोसर बेनीपट्टी-उमगाँव कें जोड़यवला मुख्य सडक पर पहुँचबा हेतु एकमात्र बाट अछि दर्जन भरि गामक लेल.  सभ सं नन्दी भौजी चौक जे आस-पासक सभ सं पैघ बाजार अछि, ओतय पहुंचय मे दू-तीन गामक लोक कें सेहो बेस दिक्कत होइ छै. एतबे नहि खिरहर सं मधुबनी यातायात हेतु बस सेवा सेहो एहि सं बेस प्रभावित भ' गेल छैक.

सरपंच वशिष्ट झा मिथिमीडिया कें जनओलनि जे एहि पुल निर्माणक समय मे ठीकेदार टाका ठीक सं खर्च नै केलक. ओ आवाज उठओने छलाह आ अंततः एतेक बरखक बाद गामक लोकक प्रयास सं सड़कक काज शुरू भेल अछि. सरकार आ प्रशासन सं लोक दुखी अछि. मिथिला पलायनक दंश झेलि रहल अछि आ जे किछु लोक गाम मे अछि से मूलभूत सुविधा लेल झखैए.

त्योंथाक मुंबई प्रवासी विजय राय कहैत छथि जे गामक युवक लोकनि बड़का उदाहरण प्रस्तुत केलनि अछि. कनेक तत्परता गाम कें स्वर्ग बना सकैत अछि. हमरा सभ श्रम योग नहि क' सकै छी मुदा प्रवासी ग्रामीण टाका पठा एहन सभ काज मे योगदान अवश्य करथि.

सड़कक ई स्थिति तखन रहल अछि जखन सुशासन बाबू (नीतीश कुमार) दू बेर प्रदेशक मुख्यमंत्री बनल छलाहई मात्र एक गामक बात नै छै. मिथिलाक्षेत्र केर गाम-गाम केर यैह स्थिति छै. एकदिस हाइवे आ दोसर दिस जर्जरवे.

गामक दिल्ली प्रवासी सोनल राय अपन ख़ुशी व्यक्त करैत कहलनि अछि जे हम सभ बहुत दिन सं प्रयास करैत छलहुं आ जखन गाम सं ई समाद सुनल, हरखक ठेकान नै रहल. सत्ते आब हमरा सभ कें अपनहि आगू आबय पडत. नेता आ अधिकारी लोकनिक भरोसे किछु ने होयत.

एहि काजक नेतृत्व कएनिहार युवक अमन झा चिंता व्यक्त करैत कहैत छथि जे एहि पूरा काज मे धनक आवश्यकता छैक आ ग्रामीण चंदा पर निर्भरता सेहो. हम सभ शुरू केलहुं अछि मुदा ग्रामीण लोकनि मदति करथि त' सड़क चालू भ' जेतैक.

त्योंथा गामक लोक उदाहरण प्रस्तुत केलक अछि. एहिना जओं गाम-गाम लोक जागि जाएत त' सरकारक प्रति निर्भरता त' कम होयबे करतैक आ तखन प्रतिनिधि लोकनिक निन्न फुजतैक. एहि समस्त उद्योग मे नरेंद्र राय, भवेश राय, श्याम झा, सोनू प्रकाश झा, गोविन्द झा, गोपाल झा, अभिषेक झा सहित ग्रामीण युवकक प्रयास प्रशंसनीय रहल अछि. 

— रूपेश त्योंथ  

Advertisement