मजगूत होइत अखिल भारतीय मिथिला पार्टी


दड़िभंगा/सहरसा: मिथिला मे चुनाव जाति पर लड़ल जाइत रहल अछि. एक ट्रेंड तैयार भ' गेल अछि. क्षेत्रीय दल हो वा राष्ट्रीय दल, सभ कें चुनाव हेतु जातिवाद केर हथकंडा सुभितगर लगैत छैक. एहनामे स्थानीय समस्या, जन सुविधा, विकास, शिक्षा आदि आवश्यक मुद्दा जेना बिला सन जाइत छै. यएह कारण रहल अछि जे मिथिला देशक अतिपछुआएल क्षेत्रमे शामिल अछि. पलायन त' जेना सहजकाज भ' गेल छै लोकक, तैं बेरोजगारी सेहो समस्या मे ने गिनल जाइ छै आ ने लोक तकर चिंतो करैए. भोट एलै कि जाति-पाति शुरू आ भांति-भांति केर प्रलोभन आ कुचक्र केर फुजल मैदान भेटि जाइ छै. मिथिला उपेक्षिते रहैत अछि.

एहना मे मंदे-मंदे सही पृथक राज्यक मांग सेहो बीच-बीच मे उठैत अछि. घोर निराशा मे लोक वा त' पलायन चुनैए वा काहि कटैए. एही सभ कें अपन प्राथमिकता मे गिनओबैत अखिल भारतीय मिथिला पार्टी सोझां अबैए.

विगत लोकसभा चुनाव मे मिथिलाक किछु सीट पर पार्टी उमेदवारो ठाढ़ कएलक. एबीएमपी कें जतेक भोट भेटलैक ताहि सं कोनो निर्णय पर पहुंचब जल्दीबाजी होयत मुदा एतेक निश्चित भ' गेलैक जे लोक पार्टीक उद्देश्य आ लक्ष्य मे रुचि ल' रहलए. सीमित संसाधन आ सीमित कार्यकर्ताक बल पर मिथिला भरि मे संगठन कें पसारब आ आगामी पंचायत चुनाव ओ विधानसभा चुनाव मे कूदब चुनौतीपूर्ण त' छै मुदा जनसमर्थनक संजीवनी एकरा बलिष्ठ क' रहल छै. पार्टीक राष्ट्रीय महासचिव रत्नेश्वर झा मिथिमीडिया संग बातचीत मे बतओलनि जे जाहि रूपेँ लोक पार्टी संग जुड़ै छथि, हमरा पूर्ण विश्वास अछि जे पार्टी आगामी चुनाव मे अपन जोरगर उपस्थिति देत आ मिथिला मे आन-आन पार्टीक जड़ि हिला देत. मिथिला-मैथिली-मैथिल प्राथमिकता अछि आ लोक पार्टी के विकल्प रूप मे ल' रहल छथि.

ज्ञात हो जे किछु दिन पहिनहि तिलिया देवी (विगत चुनाव मे आप उम्मेदवार) पार्टी सं जुड़लीह आ फेर रिटायर्ड जनरल परमेश्वर झा (विगत चुनाव मे आप उम्मेदवार) पार्टी ज्वाइन क' लेलनि. रत्नेश्वर झा कें जखन पूछल गेल जे आप पार्टी उम्मेदवार एक-एक क' मिथिला पार्टी ज्वाइन क' रहल अछि, ई केहन नीति अछि? ओ कहलनि जे मात्र आप नहि आन-आन पार्टी केर नेता लोकनि सेहो संपर्क मे छथि. जखन मिथिला लेल समर्पित पार्टी अछि त' फेर आन पार्टीक कोन काज? जखन लोक कें बुझल छै जे आन पार्टी ठकि रहल अछि, त' अखिल भारतीय मिथिला पार्टी विकल्प रूप मे सोझां अबैए.

पृथक राज्य कें अपन मुख्य एजेंडा मे शामिल करयवला आ मैथिली भाखा कें अधिकार दिअएबा हेतु तत्पर ई पार्टी कखनो विकास आ जन अधिकारक बात सेहो करैए. ई देखब शेष अछि जे जनता कतेक भरोस करैत अछि एहि पार्टी पर. (मिथिमीडिया डेस्क)

Advertisement