विद्यापति सेतु पर स्थापित कवि प्रतिमा पर संकट!

किशोरीकांत मिश्र सं मंतव्य करैत विवेकानंद झा
कलकत्ता: देशक सांस्कृतिक राजधानी कलकत्ता स्थित सियालदह फ्लाइओवर जे विद्यापति सेतु नाम सं विख्यात अछि, पर अवस्थित विद्यापतिक प्रतिमा पर संकट आबि गेल अछि. कोलकाता ट्रैफिक पुलिसक मत सं ओ स्थल यातायात व्यवस्था हेतु लगायब अत्यंत आवश्यक अछि. एकरा देखैत प्रतिमाक अगल-बगल केर स्थल कें पुलिस निज प्रयोग हेतु साफ़-सुथरा क' रहल अछि. एकरा देखैत पूर्व निर्मित किछु संरचना कें तोड़ल गेल अछि. मैथिल लोकनि मे आशंका अछि जे विद्यापति प्रतिमा कें सेहो हानि ने पहुँचाओल जाय वा ओकरा हटाओल जयबाक आशंका सं सेहो मुंह मोड़ल नहि जा सकैत अछि. विद्यापति स्मारक मंच केर प्रयास सं स्थापित मूर्ति केर देख-रेख स्मारक मंच कें सौंपल गेल अछि. पुलिस ई कार्यवाही बिनु स्मारक मंच कें विश्वास मे नेने क' रहल अछि. मंचक संयोजक विवेकानंद झा प्रतिमाक सुरक्षा ओ मैथिल अस्मिता केर रक्षार्थ आगू आबि आंदोलन चलयबाक बात कहलनि अछि. ओ भावुक होइत मिथिमीडिया कें जनौलनि जे जओं कोनो प्रकारक असफलता हाथ लगैत अछि त' हम प्राण तेजि लेब. 
ज्ञात हो जे एहि सं पहिने मइ 2010 मे सेहो ओहि स्थान कें तोड़बाक बात सोझाँ आयल छल. तखन मैथिल समुदाय द्वारा हस्तक्षेपक बाद तत्कालीन ट्रैफिक पुलिसक डीसी एकरा जस कें तस रहय देलनि आ विद्यापतिक प्रतिमा कें नहि तोड़बा विषयक पत्र स्मारक मंच कें देल गेल. डीसी बदलि गेल अछि आ राज्य केर सरकार सहित कारपोरेशन आदि केर प्रशासन सभ परिवर्तित भेल अछि. पुनः एहि स्थान पर संकट ठाढ़ भेल अछि. मैथिल एकजुटता अपेक्षित अछि. एहि कें ल' साहित्यप्रेमी लोकनि मे क्षोभ अछि. मैथिल एक्टिविस्ट अरुण सिंह एहि मामिला मे बेस सक्रिय देखल जा रहल छथि. साहित्यकार मिथिलेश कुमार झा दुःख व्यक्त करैत कहलनि जे अपना सभ कें पूरा जोर लगा मूर्ती कें यथास्थान रखबाक प्रयास करबाक चाही. वयोवृद्ध मैथिल सेनानी किशोरीकांत मिश्र कहलनि जे एहू अवस्था मे हम विद्यापति प्रतिमा लग जायब आ अपन विरोध प्रकट करब.विवेकानंद झा कहलनि जे जओं कोनो सकारात्मक बात सोझां नहि आयल त' आगामी शनि-रवि कें धरना देल जायत. चुनाव कें संवेदनशील समय रहितो हमरा सभ ओतय उपस्थित भ' अपन क्षोभ प्रकट करब.
एम्हर विद्यापति स्मारक मंच केर संयोजक विवेकानंद झा मिथिमीडिया कें जनौलनि जे ओ आइ अरुण सिंह केर संग स्पेशल पुलिस कमिश्नर (२) सौमेन मित्रा सं भेंट क' अपन पत्र सौपलहुँ. सौमेन मित्रा आश्वासन देलनि जे मूर्ति ओ गार्डन कें कोनो तरहें क्षति नहि पहुँचाओल जायत. विवेकानंद झा कहलनि जे हमरा आश्वासनक बाद आब कनेक मोन स्थिर भेल अछि. आ एखन तत्काल कोनो तरहक विरोध-प्रदर्शन वा धरना नहि होयत. (Report:  मिथिमीडिया ब्यूरो)

Read the article on 'विद्यापति सेतु'

मिथिला-बांग्ला संबंधक मूक गवाह 'विद्यापति सेतु'

Advertisement