मॉडर्न मैथिल पति - मिथिमीडिया
मॉडर्न मैथिल पति

मॉडर्न मैथिल पति

Share This
रुसि गेलाह पति परमेश्वर
नहि जे कहलियनि डार्लिंग उच्च स्वरसँ
कोना बुझाबी हुनका हम सखी
मिथिलाक रीतक अलग छैक मान।

डार्लिंग शब्दमे ओ नहि प्रेम
जे बसैछ पतिदेवमे
मैथिल छी हम मिथिलाक बेटी
जतयक सीता छलीह अभिमान।

नहि रुसू यौ अहाँ प्रियतम
अहाँक हिरदयमे बसैछ हमर प्राण
सात जन्मक बंधन अछि अहाँक-हमर
सदिखन दीप जे जराबी
ओहिमे अहींकेँ पाबी ।

जँ खुश रहब अहाँ डार्लिंग सुनिक'
हँसैत-हँसैत हम बाजब
प्राणनाथ जुनि एना मुरझाउ
सनगर सन एकटा मुस्की संग
अपन हिरदय लगाउ।
.
मिथिला माँ हे मिथिला नगरी
हे हिरदय बसल मिथिला बोली
बाजब जखन ई अंग्रेजिया बोली
तखनो रहत अहाँक ध्यान
द' देब हमरा क्षमादान।
 

— नवीन कुमार 'आशा'

Post Bottom Ad